My photo
पढ़ने लिखने में रुचि रखती हूँ । कई समसामयिक मुद्दे मन को उद्वेलित करते हैं । "परिसंवाद" मेरे इन्हीं विचारों और दृष्टिकोण की अभिव्यक्ति है जो देश-परिवेश और समाज-दुनिया में हो रही घटनाओं और परिस्थितियों से उपजते हैं । अर्थशास्त्र और पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नात्तकोत्तर | हिंदी समाचार पत्रों में प्रकाशित समाजिक विज्ञापनों से जुड़े विषय पर शोधकार्य। प्रिंट-इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ( समाचार वाचक, एंकर) के साथ ही अध्यापन के क्षेत्र से भी जुड़ाव रहा | प्रतिष्ठित समाचार पत्रों के परिशिष्टों एवं राष्ट्रीय स्तर की प्रतिष्ठित पत्रिकाओं में लेख एवं कविताएं प्रकाशित | संप्रति समाचार पत्रों और पत्रिकाओं के लिए स्वतंत्र लेखन । प्रकाशित काव्य संग्रह " देहरी के अक्षांश पर "

12 December 2015

मेरे कविता संग्रह की वेबदुनिया में समीक्षात्मक चर्चा

 वेबदुनिया में मेरे कविता संग्रह की समीक्षात्मक चर्चा की गयी ।

 Click here to read ...http://hindi.webdunia.com/hindi-books-review/book-review-115111900042_1.html




5 comments:

  1. सुबह सुबह पत्रिका अख़बार आता है घर में और आपकी रचना अनायास पढ़ने में मिल जाती है। आज वेबदुनिया में भी समीक्षा देख ली। बधाई

    ReplyDelete
  2. वेब दुनिया में हुई समीक्षा के लिए आपको बहुत बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  3. हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  4. वेबदुनिया पर समीक्षा हेतु बधाई।

    ReplyDelete
  5. बधाई इस समीक्षा पे ....

    ReplyDelete